Kis var ko karna chahiye kaun sa kam | शुभ बार में करे शुभ काम - Our bhakti- ज्योतिष,राशिफल,व्रतकथा,हिन्दु धर्म,

Latest

Our bhakti- ज्योतिष,राशिफल,व्रतकथा,हिन्दु धर्म,

ourbhakti.com - पर आपका स्वागत हैं यहाँ से आप हिन्दू धर्मं से सम्बंधित जानकारी जैसे ज्योतिष विज्ञान ,पूजा पाठ ,ग्रह शांति , हवन ,व्रत कथा ,वास्तु ,राशिफल, साथ ही सनातन धर्मं की रोचक जानकारी पा सकते हैं ।

Kis var ko karna chahiye kaun sa kam | शुभ बार में करे शुभ काम

Kis var ko karna chahiye kaun sa kam | शुभ बार में करे शुभ काम 

यदि हमें ज्योतिष की बिलकुल भी जानकारी नहीं है तो हम कोई भी शुभ वार को देखकर पता कर सकतें हैं की किस बार को करना चाहिये कौन सा काम (Kis var ko karna chahiye kaun sa kam) किसी भी काम को करने के बाद हमें सफलता मिले।
Kis var ko karna chahiye kaun sa kam | शुभ बार में करे शुभ काम

             Kis var ko karna chahiye kaun sa kam?


कोई भी काम करने का समय निश्चित होता है । बिना सोचे समझे किया हुआ कार्य सफल हो ऐसा कहना मुश्किल है।

हमे शुभ परिणाम तब मिलता है जब हम कोई  भी काम शुभ मुहूर्त में शुभ बार में करते है तो इसकी सफल होने की संभावना बढ़ जाती है।

इसलिए हमें कई भी कार्य करने से पहले देश काल परिस्थिति के अनुसार शुभ मुहूर्त का चयन करना चाहिए।

आज के इस लेख में हम इसी विषय पर चर्चा करेंगे कि कौन सा काम किस बार को करने से
सफल हो जाता है

 ये लेख उन लोगों के लिए है जो ज्योतिष में कम रुचि रखते है वे लोग इतना तो करहि सकते है आज सोमवार है आज ये काम करना चाहिए आदि आदि।

        तो चलिये जानते है हम लोग जानेका प्रयास करते है कि कौन सा काम किस वार को करने से शुभ होता है।

1.रविवार(sunday) -------इस दिन गायन ,संगीत आदि कामो  लिये शुभ होता है।

2.सोमवार(monday)------- किसी भी शुभ काम के लिये ये   दिन अच्छा माना गया है।


3.मंगलवार(tuesday)------युद्ध,खेल, आदि कार्यो के लिये  ये दिन शुभ होता है।


4.बुधवार(wednesday)----ये दिन कोई भी नया व्यापार शुरू करने के लिए शुभ होता  है।


5.गुरुवार(Thursday)------ इस दिन विद्या आरम्भ करने शुभ होता है।


6.शुक्रवार(Friday)--------  इस दिन तर्क,वाद विवाद  विचार विमर्श के किये शुभ होता  है।


शनिवार(Saturday)-------शल्य ,चिकित्सा,मेडिकल आदि के शुभ होता है।

    नोट- हालांकि कोई भी शुभ कामों के लिये हमारे भारतीय ज्योतिष शास्त्र में और भी बहुत सारी बाते बताई गई है उनको भी ध्यान  में रखना परम आवश्यक है जैसे-राशि,नक्षत्र,लग्न,होरा,राहुकाल,गुलिककाल,चौघडी आदि।

ऊपर बताई गई बातें सिर्फ  उन लोगो के लिए हे जो ज्योतिष को बिलकुल  नहीं जानते है या कम जानते है।
अगर आप को इस विषय में बारीकी से जानकारी चाहिए तो हमसे संपर्क कर सकते हैं।
                        धन्यबाद।