sapne dekhna | सपनों का रहस्य |सपने क्यों आते हैं

sapne dekhna | सपनों का रहस्य |सपने क्यों आते हैं 

sapne dekhna कोई बुरी बात नहीं हैं लेकिन sapne dekhna और डर जाना ये बुरी बात हैं हम जब गहरी नींद में सोते हैं तो sapane dekhna एक आम बात हैं 
sapne dekhna | सपनों का रहस्य |सपने क्यों आते हैं
sapne dekhna

हम जब भी  सपने देखते हैं उन सपनों में से कोई सपने अच्छे होते हैं कोई सपने बुरे भी होते हैं अच्छे सपने जब देखते तो हम खुश हो जाते हैं लेकिन जब बुरे सपने देखते हैं तो  मन में एक डर सा लगने लगता है न जाने यह कौन सी घटना का संकेत है


हम आपको यहां पर बता दें कि सपनों का एक अलग तरह का विज्ञान है। जरूरी नहीं है कि हम जितने भी सपने देखते हैं वह सब सच हो,लेकिन जो सपने सच हो,या होने वाला हो उसके पीछे का रहस्य क्या है आज हम इसी विषय पर बात करेंगे।

sapne kyu dekhte hai | क्यों आते हैं सपने

sapne dekhna मन की एक विशेष अवस्था है जब हम सपने देख रहे होते हैं उस समय हमें वास्तविकता का बोध होता है ऐसा लगता है कि यह सब हकीकत में हो रहा है।

 सपने न तो जागते  हुए आते हैं और ना ही निद्रा के अवस्था में आते हैं सपने उस समय आते हैं जब हम तुरिया अवस्था में होते हैं सोने और जागने के बीच के समय  को तुरिया अवस्था कहते हैं।

 सपने  आने का बहुत सारा कारण होता है जैसे आपका खान-पान रहन-सहन आप बीमार हैं या स्वस्थ हैं। सपनों के पीछे ग्रह नक्षत्र और राशियां भी जिम्मेदार होती है।

 लेकिन आप का देखा हुआ हर सपना सही हो ऐसा नहीं हो सकता ज्यादातर सपनो का कोई मतलब नहीं होता।

किस तरह के सपने आने से क्या परिणाम होता है

हमारे धर्म ग्रंथ रामचरित मानस में सपनों के विषय में विशेष चर्चा भी हुई है , कभी कभी भविष्य में होने वाली घटनाओं का संकेत भी स्वप्न के माध्यम से मिलता है।

 शास्त्रों में अलग अलग घटनाओ के माध्यम से सपनों का फल बताया गया है । किस तरह का सपना देखा, कौन से समय मे देखा, इन सब बातों को बिचार करके ही स्वप्न का फल निर्धारित होता हे ।

हम ज्यादातर सपने अपने मन के प्रभाव से देखते है सपनों का प्रभाव हमारे जीवन पर बहुत ही कम पड़ता है क्योंकि ज्यादातर सपने हम डर और चिंता के कारण देखते हैं।

 दिन भर में आने वाले विचारों से देखते हैं या बीमारी की वजह से देखते हैं हमने किसी विषय वस्तु के बारे में दिनभर सोचा उसकी कल्पना की और रात को वही चीज सपने में दिखाई दिया ऐसे सपने बिल्कुल निरर्थक होते हैं किसी काम के नहीं होते।

सपने ऐसे भी  होते हैं जो भविष्य में होने वाली घटनाओं का संकेत देते हैं।

जब हमारा शरीर पूर्ण रूप से स्वस्थ होता है मन में किसी तरह के विचार नहीं आते ।उस समय रात को जब हम सपना देखते हैं, ऐसे सपने अक्सर सत्य होते हैं

और भविष्य में होने वाली घटनाओं को किसी विषय वस्तु के माध्यम से बताते हैं भविष्य के प्रति आपको चेतावनी भी देते हैं कि आप ये गलती न करें नहीं तो आने वाले समय में इस प्रकार की घटना घट सकती है।

sapne kab sach hote hain | सपने कब सच होते हैं

sapne dekhna और sapne sach hona ये बहुत बड़ी बात हैं ऐसा बहुत कम लोगो के साथ होता है ऐसी मान्यता है जो सपने आप  ब्रम्ह मुहूर्त ( सुबह चार बजे )  के समय देखते और सपने देखने बाद जग जाते हैं।

इस प्रकार sapne dekhna सपने की सच होने की संभावना ज्यादा होती हे। इसलए सुबह के वक़्त देखे गए स्वप्न के प्रति हमें विचार करना चाहिये ।

tag-sapne dekhna,sapne kyu aate hain,sapne kab sach hote hain,सपना,  सपने देखना 
sapne dekhna | सपनों का रहस्य |सपने क्यों आते हैं sapne dekhna | सपनों का रहस्य |सपने क्यों आते हैं Reviewed by Ourbhakti on December 15, 2018 Rating: 5
Powered by Blogger.