शादी से पहले ध्यान दें यह मुख्य बातें/before marriage

शादी से पहले ध्यान दें यह मुख्य बातें

 शादी करने से पहले किन किन बातों का ध्यान देना चाहिए कुंडली मिलान करते समय कौन सी बातें हैं जो मुख्य रुप से हमें जाननी चाहिए आज के इस लेख में हम गण दोष पर  बात करेंगे।

  शादी दो शरीरों का ही नहीं अपितु दो आत्माओं का मिलन है। ऐसे में हमारा प्रयास रहता है कि हमारा वैवाहिक जीवन सुख पूर्वक  बीते जीवन की हर परिस्थितियों में एक दूसरे को सहारा देते हुए आगे बढ़े। इसके लिए हम सिर्फ कुंडली मिलान ही नहीं करते हैं बल्कि खुद भी पूरा प्रयास करते हैं कि कैसे हमारा वैवाहिक जीवन सुख से बीते इसी बात को ध्यान में रखते हुए आज हम अष्टकूट मिलान के अंतर्गत   गण दोष के विषय में बात करेंगे कि कैसे गण दोष हमारे वैवाहिक जीवन में प्रभाव डालता है।
शादी से पहले /before marriage

 गण कितने प्रकार के होते हैं? 


गण तीन प्रकार के होते हैं जो इस प्रकार है- देवगण, मनुष्य गण, और राक्षस गण
गण दोष का विभाजन पूर्ण रुप से 27 नक्षत्रों पर आधारित है जो तीन भागों में विभाजित है। अगर 27 नक्षत्रों को 3भागों में बाटा जाए तो9 नक्षत्र का एक गण होता है ।

क्या  है गण दोष?


 कुंडली मिलान करते समय गण दोष को विशेष रुप से ध्यान दिया जाता है। क्योंकि  वर और वधु के बीच में आपस में मित्रता होना परमआवश्यक है यदि वर और वधू के बीच में  मित्रता नहीं होगी तो उनका गृहस्त जीवन कभी खुशी से नहीं चल पाएगा। गण दोष से प्रवृत्ति का पता चलता है अपने स्वभाव का पता चलता हे  । जैसे जो व्यक्ति जिस प्रवृत्ति का होता है  जिस स्वभाव का होता हे उसी मे ही उसका  मन लगता है ।मान लीजिए कोई व्यक्ति सीधा-साधा है अच्छे स्वभाव वाला है तो उसको उसी प्रकार के लोग ही अच्छे लगेंगे सीधे-साधे लोगों के बीच रहना उसको पसंद आएगा। इसके विपरीत यदि किसी का विवाह देव गण और  राक्षस घर में होता है तो उन दोनों का वैवाहिक जीवन कभी सुख से नहीं बीतेगा हमेशा झगड़े होते रहेंगे। हमारे धर्म ग्रंथ में यह लिखा है यदि कोई जातक मनुष्य गण का है तो उसको मनुष्य गण की  कन्या से ही शादी करनी होगी, यदि कोई देवगण का है तो उसे देवगण की कन्या से ही विवाह करनी होगी और यदि कोई राक्षस गण का है तो उसे राक्षस गण मे  ही शादी करनी होगी तभी जाकर पति और पत्नी के बीच में लड़ाई झगड़े नहीं होंगे। उनका वैवाहिक जीवन खुशी से चलता रहेगा । इसीलिए  शादी करने से पहले गण का  ध्यान देना आवश्यक  है।

और बातें हे जो हमें जाननी चाहिए

also read,किस बार को करना चाहिये कौन सा काम? Kis Var Ko Karna Chahiye Kaun Sa Kam?
  
शादी करने से पहेले सिर्फ गण दोष को ही देखा नहीं जाता अपितु कोई कुंडली के विशेस जानकार से कुंडली का मिलान कराना चाहिए। जिसमे अष्ट कूट मिलान , मंगली दोष,ग्रह मैत्री ,षडास्टक आदि विचार किया जाता हे ,तब जाकर  वर और वधु का विवाह होगा या नहीं इस विषय पर निर्णय होता ।इसलिए शादी करनेसे पहेले एक बार अच्छे ज्योतिषी से सलाह जरुर  लेनी चाहिए ।
आप लोगो को यह लेख केसा लगा हमें जरुर बताना और यदि आप लोगो  के पास कोई भी  सवाल या सुझाब हो तो आप हमसे  contact us में जाकर  संपर्क कर सकते हे आने वाले लेख में विवाह से सम्बंधित और भी चर्चा करेंगे ।
also read Ghar Me Mandir Kis Disa Me Hona Chahiye
read our full site click here