Why do we offer sindoor to lord hanuman | हनुमान को प्रिय है सिंदूर

Why do we offer sindoor to lord hanuman | हनुमान को क्यों प्रिय है सिंदूर

हनुमान को क्यों इतना प्रिय है सिंदूर ?हनुमान को लाल रंग सबसे ज्यादा क्यों चढ़ाया जाता है?
हनुमान को प्रिय है सिंदूर,hanumaan ko sindur kyu priya he
हनुमान को क्यों अच्छा लगता हे लाल रंग ?

हनुमान जी को लाल रंग ही सबसे ज्यादा क्यों प्रिय है? क्यों प्रसन्न होते हैं हनुमान जी  लाल रंग से, सिंदूर से लालचोले से? आज के इस छोटे से लेख में हम इसी विषय पर बात करेंगे |hanuman ko kyu pasand he sindur ?sindur kyu chadaya jata he hanuman ko?

     हनुमान जी को लाल  क्यों पसंद है?

 इस विषय पर हमारे रामायण में एक सुंदर कथा आती है उस कथा के अनुसार माता सीता अपना श्रृंगार कर रही थी , जैसे ही मां सीता अपने माथे पर सिंदूर लगा रही थी उसी समय हनुमान जी वहां आ गए माता को सिंदूर लगाते देख हनुमान जी ने सीता माता से पूछा अपने माथे पर यह लाल रंग का सिंदूर क्यों लगाया हे ?

हनुमान की ऐसी बातें सुनकर पहले तो मां सीता मुस्कुराई और हनुमान जी से बोली हे हनुमान में अपने माथे पर सिंदूर इसीलिए लगाती हूं ताकि मेरे प्रभु श्रीराम मुझ पर प्रसन्न हो और उनकी लंबी आयु बनी रहे ।

 हनुमान ने जैसे ही मां सीता की यह बात सुनी तो  मां सीता के पास रखी सारी की सारी सिंदूर अपने शरीर लगाया हनुमान ने अपने  शरीर को पूरा लाल कर दिया और इधर उधर दौड़ते हुए नाचने लगे और भगवन  राम की सभा में पहुंच गए।

 भगवान राम अपने राज कार्य मैं व्यस्त  थे। दरबार में बैठे सभी लोग हनुमान को देकर आश्चर्य में पड़ गए। भगवान राम ने पूछा हे हनुमान तुमने अपने शरीर पर इतना सारा  सिंदूर क्यों लगाया हुआ है?
तब हनुमान जी भगवान राम से कहते हैं हे प्रभु मैंने माता सीता को अपने माथे पर सिंदूर लगाते देखा और मैंने माता से पूछा की आप ने माथे पर क्यों लगाया हे।

 तो माता ने  आपकी कुशलता की बात की। फिर  मैंने भी सोचा यदि थोड़ा सा सिंदूर माथे पर लगाने से आपकी आयु में वृद्धि होती है आप प्रसन्न होते हैं तो मैंने सोचा क्यों न यह सिंदूर  पूरे शरीर पर लगाया जाए ताकि आप मुझ पर सबसे ज्यादा प्रसन्न हो मुझ पर आपकी कृपा बनी रहे।

हनुमान की एसी भक्ति  देखकर भगवान राम प्रसन्न हो गए और यह वरदान दिया तुहारे पूजन में जो भी लाल वस्त्र चढ़ आएगा लाल सिंदूर चिढ़ाएगा उस पर मेरी कृपा बनी रहेगी उस पर मैं सबसे ज्यादा प्रसन्न हो जाऊंगा ।

ऐसा माना जाता है तभी से हनुमान जी को लाल रंग बहुत प्रिय है।
 दोस्तों आप लोगों को यह छोटा सा लेख ऐसा लगा हमें जरूर बताइएगा सही रोचक और ज्ञानवर्धक बातें जानने के लिए कृपया हमें सॉल्व करें यदि आप लोगों के मन में कोई भी सवाल जवाब हो नीचे कमेंट भी कर सकते हैं।

और जाने
               हनुमान भी मूर्छित हुये थे जब,Facts About Hanuman