hanuman ji ki priya samagri | हनुमान को क्यों प्रिय हे ये 7 वस्तुये

   hanuman ji ki priya samagri | हनुमान को प्रिय हे ये 7 वस्तुये   


यदि कलयुग में कोई साक्षात भगवान है तो वह है हनुमान जी ऐसा कहा जाता है कि इस कलयुग में जो भी हनुमान जी की पूजा पूरी भक्ति भाव से करता है उसके सारे दुख कष्ट दूर हो जाते हैं

 लेकिन पूजा किस प्रकार करना चाहिए हनुमान जी को सबसे ज्यादा क्या प्रिय है हनुमान जी को क्या चढ़ाने से जल्दी खुश हो जाते हैं । hanuman ji ki priya samagri कौन-कौन सी हैं आज के इस लेख में हम इसी विषय पर चर्चा करेंगे

hanuman ji ki priya samagri
 जिसको जानने के बाद आप लोग भी हनुमान जी की कृपा का पात्र बनेंगे पूजा तो सभी करते हैं लेकिन हनुमान जी की पूजा यदि हम विधि विधान से करेंगे तो निश्चित ही हमें इसका लाभ मिलेगा
 ऐसा नहीं है कि हनुमानजी की जो विशेष पूजा है बहुत कठिन है हनुमान जी की विशेष पूजा बहुत सरल है हनुमान जी की पूजा किस तरीके से की जाए कौन सी वस्तुएं हनुमान जी को सबसे प्रिय है और वह किस प्रकार चढ़ाएं इसको जानना अनिवार्य हैइसे भी पढ़े.. हनुमान भी मूर्छित हुये थे जब,facts about hanuman

hanuman ji ki priya samagri 
हनुमान की 7 प्रिय वस्तुये 


हनुमान जी को विशेष चढ़ाने वाली वस्तु में सबसे पहले आता है सिंदूर हनुमा जी को सिंदूर बहुत प्रिय हैअतः पूजा में प्रयास करें हनुमान जी को सिंदूर जरूर चढ़ाएं

 विशेष ध्यान देने वाली बात सिंदूर का मतलब लाल नहीं हनुमान जी को चढ़ाया जाने वाला सिंदूर नारंगी रंग का होना चाहिए यदि मंगलवार की पूजा में हनुमान जी को नारंगी रंग का सिंदूर चढ़ाते हैं तो बुरे ग्रह अच्छा प्रभाव देने लगेंगे

 व्यक्ति के ऊपर से कर्ज उतर जाता है और यात्रा से संबंधित दुर्घटनाएं नहीं होती है
महिलाओं के लिए विशेष - महिलाओं को कभी भी हनुमान जी को सिंदूर नहीं चढ़ाना चाहिए महिलाएं केवल हनुमान जी को लाल फूल ही चढ़ा सकती हैं

2. हनुमान की दूसरी सबसे प्रिय वस्तु है चमेली का तेल

 हनुमान जी को चमेली का तेल बहुत पसंद है हनुमान को चमेली का तेल चढ़ाने से मन इधर-उधर नहीं भटकना शांत होता है स्मरण शक्ति बढ़ती है आंखों से संबंधित बीमारियां नहीं रहती नित्य पूजा में हनुमान के सामने चमेली का दीपक जलाएं। 

 निश्चित ही जीवन में आने वाली सभी प्रकार की बाधाओं से मुक्ति मिलती है चमेली का तेल हनुमान जी को दो प्रकार से चढ़ाया जाता है सामान्य तेल में मिलकर भी हनुमान जी को चढ़ाया जाता है और दूसरा श्री हनुमान जी के सामने चमेली का  दीपक जलाकर। इसे भी पढ़े..हनुमान को प्रिय है सिंदूर,hanumaan ko sindur kyu priya he?

3. हनुमान जी को तीसरी सबसे प्रिय वस्तु है  झंडा

 यह विशेष रूप से मंदिर में चढ़ाया जाता है झंडा को ध्वज भी कहते हैं हनुमान का झंडा त्रिकोण वाला होना चाहिए झंडे के बीच में राम लिखा होना चाहिए और झंडा का रंग लाल या नारंगी  होना जरूरी है

 मंगलवार के दिन  झंडे को हनुमान मंदिर में जाकर चढ़ाने से धन संपत्ति में वृद्धि होती है हनुमान जी का ध्वज अपने वाहन में भी लगवा सकते हैं इससे आने वाली दुर्घटनाओं से मुक्ति मिलती है

4. हनुमान जी को तुलसी भी बहुत प्रिय है

 hanuman ji ki 7priya samagri
hanuman puja vidhi
 हनुमान जी यदि किसी वस्तु से तृप्त होते हैं तो वह है तुलसी दल हनुमान जी को तुलसी दल इसीलिए प्रिय है तुलसी का पत्ता भगवान राम को भी बहुत प्रिय है जो वस्तु भगवान राम को प्रिय है वह हनुमान को प्रिय होना स्वाभाविक है

 यदि हर मंगलवार को हनुमान जी के ऊपर तुलसी की माला पहना दिया जाए घर में सुख शांति समृद्धि यश बनी रहती है नित्य पूजा में हनुमान जी के ऊपर दो तुलसी के पत्ते जरूर चढ़ाना चाहिए

  पूजा के पश्चात चढ़ाए हुए तुलसी के पत्ते को प्रसाद के रूप में स्वीकार करने से स्वास्थ्य अच्छा बना रहता है किसी  प्रकार की बीमारी नहीं होती

5. हनुमान जी को लड्डू का भोग भी बहुत प्रिय है 

ऐसी मान्यता है जी को बेसन और बूंदी के लड्डू चढ़ाने से सारे ग्रह दोष दूर हो जाते हैं विशेष रूप से यदि मंगलवार के शाम को दो तुलसी के पत्तों में लड्डू रखकर चढ़ाने से जीवन खुशियों से भर जाता हैं 

6. हनुमान को प्रिय है राम का नाम 

ऐसी मान्यता है की हनुमान अपनी पूजा से इतने जल्दी प्रसन्न नहीं होते जबकि राम के नाम से बहुत जल्दी प्रसन्न हो जाते हैं यदि हनुमान जी के सामने भगवान राम का नाम लिया जाए राम की पूजा की जाए उनकी प्रार्थना की जाए तो हनुमानजी की विशेष कृपा भक्तों के ऊपर हो जाती है

Tag- hanuman ji ki priya samagri | हनुमान को प्रिय हे ये 7 वस्तुये 
hanuman ji ki priya samagri | हनुमान को क्यों प्रिय हे ये 7 वस्तुये  hanuman ji ki priya samagri | हनुमान को क्यों प्रिय हे ये 7 वस्तुये Reviewed by Ourbhakti on January 01, 2019 Rating: 5

No comments:

इस लेख से सम्बंधित अपने विचार कमेंट के माध्यम से पूछ सकते हैं
please don't enter any spam link in the comment box

Powered by Blogger.