ghar me mandir kaisa ho | घर में मंदिर कैसा हो

Ghar me mandir kaisa ho | घर में मंदिर कैसा हो 

घर में पूजा का स्थान किस दिशा में हो ghar me mandir ka design कैसा होना चाहिये मंदिर की दिशा 

क्या होनी चाहिए घर का मंदिर कैसा हो ghar me mandir kaisa ho कहा रखे घर में मंदिर।
ghar me mandir kaisa ho | घर में मंदिर कैसा हो
ghar me mandir kaisa ho

 घर में अन्य वस्तुएं जितनी जरूरी है उससे सौ गुना जरूरी है हमारे घर का अपना मंदिर जिसकी स्थापना विधि पूर्वक करने से घर में सभी प्रकार के दोष दूर हो जाते हैं और सकारात्मक ऊर्जा हमारे घर में हमेशा बनी रहती है।
ये पोस्ट भी पढ़े ..शिव को क्यों पसंद हैं-बेलपत्रधतूरा भांग श्रावण मास श्मशान
kyu rakhe ghar me mandir | क्यों रखें घर में मंदिर

घर में मंदिर रखना इसलिए जरूरी है कि इस संसार में दो प्रकार की ऊर्जा का संचार होता है एक शुभ और दूसरा अशुभ वास्तु शास्त्र के अनुसार घर में सकारात्मक ऊर्जा हमेशा बनी रहे जिससे घर में रहने वाले लोगों को किसी प्रकार का कष्ट ना हो घर में सुख शांति बनी रहे  आपस में प्यार बना रहे इसीलिए घर में मंदिर की स्थापना की जाती है।

कैसा होना चाहिए घर का मंदिर मंदिर का मतलब यह नहीं कि आप अपने मर्जी से J7 ऐसा बना दे इसका भी एक नियम है मंदिर हमेशा घर में एक ही स्थान पर होना चाहिए मंदिर का स्थान बार-बार नहीं बदलना चाहिए ऐसा नहीं करना चाहिए कि आज मंदिर पूरब में है तो कल उसको अपने कमरे में ले जाकर स्थापित कर दें और दूसरे दिन कहीं और ले जाए मंदिर की जगह निश्चित होनी चाहिए और वहीं पर बैठकर नियमित रूप से भगवान की पूजा होनी  चाहिए इस प्रकार पूजा करने से जो मंदिर का प्रभाव है वह आपके पूरे घर में फैलेगा  घर में रहने वाले लोगों के तमाम प्रकार की समस्या खत्म हो जाएगी।

ये पोस्ट भी पढ़े ..सभी दुखों से छुटकारा दिलाने वाला शनिवार का व्रत 
घर में यदि पूजा का स्थान निश्चित जगह पर है आप वहां पर कुछ समय रोज सुबह शाम बिताते हैं तो आपको डिप्रेशन नहीं होगा सेहत संबंधी समस्याएं नहीं आएंगी मन में कोई विचार नहीं आएंगे आर्थिक स्थिति में काफी सुधार होगा और आपसमें घर के लोगों में प्रेम और तालमेल बनी रहेगी।

किस दिशा में होना चाहिए घर में मंदिर -मंदिर की जगह हमेसा ईशान कोण(उत्तर पूर्ब) में  होनी चाहिए यदि ऐसा संभब न हो तो मंदिर पुरब और उत्तर में भी बना सकते है।ध्यान दे घर का मंदिर दक्षिण दिशा,पश्चिम दिशा,नृत्य कोण,वायव्य कोण में कभी नहीं होनी चाहिये।

घर के मंदिर में कैसा रंग होना चाहिए कई बार हम गलती कर देते हैं मंदिर में रंग को लगाने को लेकर  हम अपनी मर्जी से जो मन में आया वही रंग लगा देते हैं कभी लाल लगा दिया तो कभी काला लगा दिया तो कभी हरा लगा दिया हमने घर में मंदिर की स्थापना की है तो हमें उसके रंगों को भी ध्यान देना होगा।

 हम आपको बता दें घर के मंदिर में रंग लगाते समय आपको गाढ़े रंग से बचना होगा गाढ़े  रंग मंदिर में कभी ना लगाएं मंदिर में हमेशा हल्का पीला या सफेद रंग ज्यादा फायदेमंद होता है
घर में पूजा का स्थान किस दिशा में हो
ghar me mandir kaisa ho | घर में मंदिर कैसा हो 

मंदिर को लेकर फैलाई गई अफवाह आजकल घर में मंदिर तो कोई बनाता नहीं है अपनी सुविधा के अनुसार बाजार में गए और एक मंदिर का ढांचा खरीद कर ले आए और उस ढांचे में भी ऊपर त्रिभुज जैसा गुंबज बना हुआ रहता है जो पूरी तरह से गलत है!  घर में गुंबज वाले मंदिर की आवश्यकता नहीं है।

 हमें यह समझना चाहिए कि "घर में मंदिर होना जरूरी है न कि त्रिभुज और गुंबज  वाला ढ़ाचा" घर में मंदिर की आकृति रखने की कोई आवश्यकता नहीं है घर में मंदिर होना चाहिए बस

ये पोस्ट भी पढ़े .. तिजोरी किस दिशा में होना चाहिए
मंदिर में देवी-देवताओं की स्थापना कैसे करें हमने घर में मंदिर भी बना लिया पूरी विधि-विधान से सभी प्रकार के नियमों का पालन भी करलिया  लेकिन हम एक बात भूल जाते हैं जब हम उस मंदिर में कई  भगवान की स्थापना करते हैं तो अनेक प्रकार के देवी देवताओं की भीड़ लगा देते हैं हद से ज्यादा भगवान को उस मंदिर में रखते हैं एक कोने में भगवान शिव को रख दी, दूसरे कोने में दुर्गा को रख दिया, तीसरे कोने में काली को रख दिया, पूरी तरह से भर दिया भगवान को ऐसा करने से कुछ लाभ नहीं होगा।

जो आपके इष्ट देव हैं जिस भगवान को आप मुख्य रूप से मानते हैं मंदिर  में उन्हीं की ही मूर्ति या फोटो  लगानी चाहिए जैसे- आप भगवान शिव को मुख्य रूप से मानते हैं  तो उनकी मूर्ति या फोटो मंदिर के बीचो बीच स्थापित कीजिए अगर  हनुमान को मानते हैं तो ठीक ऐसा ही कीजिए इसके अलावा एक कलश होनी चाहिए एक दीपक होना चाहिए और एक विघ्नहर्ता गणेश की फोटो या मूर्ति होनी चाहिए इससे ज्यादा घर के मंदिर में भगवान की स्थापना करना अच्छा नहीं माना जाता

घर के मंदिर में कैसी मूर्ति होनी चाहिए
जब भी आप घर में किसी भगवान की मूर्ति की स्थापना करें तो ध्यान दें घर में पूजा की जाने वाली मूर्ति सिर्फ 6 इंच कीहो  या इससे छोटी भी रख सकते हैं 6 इंच से बड़ी मूर्ति रखने का विधान नहीं है और बात करें फोटो की तो आप कितनी भी बड़ी फोटो मंदिर में लगा सकते हैं फोटो को लेकर कोई विशेष नियम नहीं है घर के मंदिर में आप जैसा मर्जी भगवान की फोटो लगा सकते हैं

मंदिर में विशेष ६ चीजे होनी चाहिये भगवान के साथ साथ मंदिर में कुछ और चीजों को भी रखी जाती है वह है १ घंटी,२ शंख, ३ गोमती चक्र,४ पंच पात्र,५ एक धार्मिक पुस्तक,६ कुश का आसन ये ६ चीज मंदिर में जरुर रखे क्यों की इन सामग्री के बिना आप पूजा ही नहीं कर सकते

घर के मंदिर को जागृत कैसे करें घर में मंदिर की स्थापना कर देने मात्र से कुछ नहीं होगा जब उस मंदिर में कोई सकारात्मक ऊर्जा है ही नहीं तो हमें मंदिर की स्थापना करने का क्या लाभ इसीलिए मंदिर बनाने के साथ-साथ उस मंदिर को जागृत भी करना चाहिए । मंदिर को जागृत करना मतलब मंदिर को जगाना भगवान् में जान डालना  मंदिर के सामने बैठे तो आपको ऐसा अनुभव हो कि वाकई सकारात्मक ऊर्जा आपके अंदर प्रवेश कर रही है।


 जब भी आप घर में पूजा करें तो एक नियम बना लीजिए एक ही समय में पूजा करने की चाहे वह सुबह हो या शाम पूजा करने का समय निश्चित होना चाहिए किसी दिन कोई कारणवश यदि ना हो सका तो घर के अन्य सदस्य को जरूर नियमित रूप से पूजा करना चाहिये। पूजा के पश्चात एक माला जप थोड़ा सा भजन कीर्तन साथ ही अपने इष्ट देव की आराधना  करनी चाहिए अगर हम ऐसा करते हैं तो उस मंदिर में जान आ जाएगी भगवान आपकी बात को जरूर सुनेंगे।

 जिस घर मे भगवान का मंदिर नही है वो घर तो शमशान के समान है,  जिस घर मे भगवान का मंदिर है उस घर मे परमात्मा का वास होता है। हर घर में पूजा का स्थान मंदिर जरुर होना चाहिये ।

TAG-ghar me mandir kaisa ho,ghar me mandir ka design,,ghar ka mandir, घर में पूजा घर,मंदिर की दिशा,घर में पूजा का स्थान किस दिशा में हो


ghar me mandir kaisa ho | घर में मंदिर कैसा हो ghar me mandir kaisa ho | घर में मंदिर कैसा हो Reviewed by Ourbhakti on August 17, 2019 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.