khush rahaneka ashan tarika |खुद को खुश कैसे रखे

khush rahaneka ashan tarika kya hain | खुद को खुश कैसे रखे 


शायद इंसान खुश(khush) रहना भूल गया  जीवन जीने का तरीका बदल गया हम कैसे थे अब क्या हो गए हमें अपनों से मिलने की फुर्सत तक नहीं  रोजमर्रा के काम के चक्कर में हम जीवन जीना भूल गए  इंसान पैसो के पीछे इस कदर डूबा हुवा हैं मानो उसके अपने कोई नहीं है सिवाए पैसों के।

khush rahaneka ashan tarika |खुद को खुश कैसे रखे
khush rahaneka tarika 

 khush rahaneka ashan tarika kya hai?

एक बहुत बड़े संत ने यह कहा था कि हर इंसान मरने से डरता है मृत्यु से भयभीत है वह इसीलिए भयभीत है कि कि उसने कभी जिंदगी में जीवन का स्वाद ठीक से लिया ही नहीं।

जो इंसान इस बात को जानता है कि जीवन क्या है उसे कभी मृत्यु का भय नहीं रहता है सबसे बड़ा सच यह है कि मृत्यु किसी का भेदभाव नहीं करती  समान रूप से सबको मारती है।

 जबकि जन्म ऐसा नहीं है किसी का जन्म होता है तो सबसे पहले वहां भेदभाव ही नजर आता है इंसान का जन्म होते ही धर्म जाति गरीबी अमीरी ऊंचे  कुल गरीबी अमीरी पैसे वाले का इन सब बातों में भेदभाव स्पष्ट नजर आता है।

किसी भी मनुष्य का जन्म कहीं भी हो सकता है अमीरों के घर में भी हो सकता है गरीब के घर में भी हो सकता है अगर इंसान आमिर के घर में जन्म लेगा तो ठीक है उसे जन्म लेते ही करोड़ों की सुख सुविधाएं मिलने लग जाती है।

लेकिन किसी गरीब के घर में जन्म लेना इस दुनिया में सबसे बड़ा श्राप है सबसे बड़ा गुनाह है किसी गरीब के बच्चे को जीवन में सफल होने के लिए बहुत ज्यादा संघर्ष करना पड़ता है

वह अच्छी शिक्षा नहीं प्राप्त कर सकता अच्छे स्कूलों में नहीं जा सकता महंगे कपड़े नहीं पहन सकता अच्छा स्वादिष्ट भोजन नहीं कर सकता कितना फर्क है अमीरी और गरीबी में।

यह सब बातें हम इसीलिए लिख रहे हैं कि क्या हमें अब मृत्यु की आदत सी पड़ गई है क्योंकि वर्तमान परिस्थिति को देखते हुए जब  हम सुबह उठकर टीवी देखते हैं अपना मोबाइल फोन खोलते हैं अखबार पढ़ते हैं तो उसमें सबसे पहले मृत्यु की ही खबर आती है।

घर से बाहर निकलने को डर लगता है जब भी घर से बाहर जाने का मन बनाते हैं तो ऐसा लगता है कि वायरस के रूप में हवा में मृत्यु घूम रहा है हमें ऐसा प्रतीत होता है चारों तरफ मृत्यु ही मृत्यु घूम रही है कितने डरे हुए हैं हम।

इस लेख के माध्यम से हम यह बताना चाहते हैं कि हमारा उद्देश्य आपको डराना बिल्कुल भी नहीं है हम तो आपको जीवन की सच्चाई बता रहे हैं ताकि इस दुखद घड़ी में किस प्रकार जीवन जीना चाहिए

 हम कैसे खुश रह सकें khud ko kaise khush rakhe इस परिस्थिति में हमें ऐसा क्या करना चाहिए जिसके कारण हम खुश हो सके।

khush rahne ka sabse aasaan tarika,खुश रहने का सबसे आसान तरीका 

ये भी पढ़े.... भगवान् क्यों नहीं दिखी देता?
  • आप दूसरों के वजाए अपनों में ख़ुशी ढूंडने का प्रयास करे
  • घर मे रहने वाले सभी सदस्य एक साथ भोजन करे
  • इस मुश्किल दौर में खुद से प्यार करना सीखें क्यों कि आपने दुसरो के लिए तो समय निकाला पर खुद के लिए कभी सोचाही नही।
  • अधिक से अधिक ध्यान करे ध्यान करने से मन मे फिजूल की बातें नही आती।
  • दूसरे का हौसला बढ़ाने से पहले अपने को मजबूत करें ।
  • छोटी छोटी बातों में खुशियां ढूंढने का प्रयास करे।
  • घर के बगीचे में फूल लगायें ।
  • अपने घर को सजाइये अपनी पसंद का फिल्म देखिए गाना सुनिये।
  • रोज आईने में पांच मिनट खड़े होकर मुस्कुराइये।
  • अपने पसंद के कपडे पहने ।
  • बच्चो के साथ समय निकालिए उनके साथ थोडा खेले। 
  • किसी गरीब लाचार की मदद करे। 


खुश रहने के लिये आपको कोई दवा मेडिसीन नहीं मिल सकता अगर आप डॉक्टर के पास जायेंगे तो वो भी आपको यही सब बाते बतायेगा जीवन में पैसा ही सब कुछ नहीं हैं कुछ काम एसे हैं जो आपको खुद करना चाहिए तभी जाकर आपको शुकून मिलेगा 

हम आशा करते हैं आपको हमारी  बातें पसंद आइ होगी अगर आपके पास खुद को खुश रखने का  इससे भी अच्छा तरीका हैं तो कमेंट करके हमें बता सकते हैं धन्यबाद ।

Tag-khush rahaneka ashan tarika,khush rahne ka sabse aasaan tarika,khud ko khush kaise rakhe,


khush rahaneka ashan tarika |खुद को खुश कैसे रखे khush rahaneka ashan tarika |खुद को खुश कैसे रखे Reviewed by Ourbhakti on May 06, 2020 Rating: 5

No comments:

इस लेख से सम्बंधित अपने विचार कमेंट के माध्यम से पूछ सकते हैं

Powered by Blogger.