सावधान क्या आप खाते हैं शिवलिंग में चढ़ा प्रसाद shivling ka prasad - Our bhakti- ज्योतिष,राशिफल,व्रतकथा,हिन्दु धर्म,

Latest

Our bhakti- ज्योतिष,राशिफल,व्रतकथा,हिन्दु धर्म,

ourbhakti.com - पर आपका स्वागत हैं यहाँ से आप हिन्दू धर्मं से सम्बंधित जानकारी जैसे ज्योतिष विज्ञान ,पूजा पाठ ,ग्रह शांति , हवन ,व्रत कथा ,वास्तु ,राशिफल, साथ ही सनातन धर्मं की रोचक जानकारी पा सकते हैं ।

सावधान क्या आप खाते हैं शिवलिंग में चढ़ा प्रसाद shivling ka prasad

Shivling me chadha prasad khaye ya nahi | शिवलिंग में चढ़ा प्रसाद खाये या नहीं 

हम हमेशा यही सुनते आरहे है शिवलिंग(shivling) की पूजा करो शिवलिंग पर प्रसाद(prasad) चढ़ाओ पूजा समाप्त होने के बाद शिवलिंग पर चढ़ा प्रसाद(shivling ka prasad) खाओ इससे हमारे सभी कष्ट दूर होंगे।

 इसमे कोई शक नही की यह हमारा विश्वास है हम आपके इस विश्वास और भक्ति को दिल से प्रणाम करते है भगवान शिव मेरे भी आराध्य देव है।
shivling ka prasad khaye ya nahi

 इसलिए आज में आपको शिवलिंग में चढ़ाया हुआ प्रसाद खाना चाहिये या नही खाना चाहिये इस विषय मे पूरी जानकारी दूंगा वो भी शास्त्रीय प्रमाण के साथ।

पुराण  कहते है कि भगवान के ऊपर चढ़ाया गया प्रसाद खाने से सभी मनोकामना पूरी होती है लेकिन कुछ विशेष नियम भी बनाये गए है जिसको हमें जानना बहुत आवश्यक है।

सबसे पहले आपको स्पस्ट बतादूँ भगवान भोले नाथ को हम इंसान ही नही बल्कि सम्पूर्ण विश्व अपना आराध्यदेव मानता है।

यहाँ तक भूत प्रेत डाकिनी शाकिनी भी भगवान शिव की पूजा वैसे ही करते है जैसे हम इंसान! फर्क सिर्फ इतना है उन्हें हम देख नही सकते ।

शिवलिंग में चढ़ाया गया प्रसाद  के अधकारी हम इंसान के अलावा ये भूत प्रेत भी होते हैं।ऐसा नही है कि शिवलिंग में चढ़ा हुआ प्रसाद कभी खाना ही नही चाहिये

कुछ शिवलिंग ऐसे है जीनमें चढ़ा हुआ प्रसाद कभी नही ग्रहण करना चाहियें और कुछ ऐसी भी शिवलिंग है जिस में  चढ़ा प्रसाद जरूर खाना चाहिये।

कौन से शिवलिंग में चढ़ा प्रसाद खाना चाहिये और कौन से का नहीं ?

kaun se shivling ka prasad khaye kaun se ka nahi?


हमारे धर्म ग्रंथ शिवमहापुराण के (विद्येश्वरसंहिता)के 22वे अध्याय में इस बात की स्पष्ट जानकारी मिलती है।

चण्डाधिकारो यत्रास्ति तद्भोक्तव्यं न मानवै:।
चण्डाधिकारो नो यत्र भोक्तव्यं तच्च भक्तित:।।

  • जिस पर चण्ड(भूत प्रेत ) का अधिकार हो उस शिवलिंग में चढ़ाया गया प्रसाद शिव भक्त को नही खाना चाहिये।लेकिन जो चण्ड के हिस्से में नही आता उस शिवलिंग पर चढ़ा हुवा  प्रसाद शिवभक्तों को अवश्य करना चाहिये।
  • शिवलिंग में चढ़ाया गया प्रसाद आपको खाना चाहिए या नहीं वह इस बात पर निर्भर करता है कि शिवलिंग किस चीज का बना हुआ है  मतलब किस धातु से शिवलिंग को बनाया गया है
  • साधारण मिट्टी से बना हुआ शिवलिंग हो तो उसमें चढ़ा हुआ प्रसाद नहीं खाना चाहिए
  • सामान्य पत्थर से बना हुआ शिवलिंग हो (किसी विशेष स्थान का पत्थर न होतो) उसमें भी चढ़ा हुआ प्रसाद शिव भक्तों को ग्रहण नहीं करना चाहिये।
  • उस शिवलिंग का प्रसाद कभी ग्रहण नहीं करना चाहिए जहां नित्य रुद्राभिषेक न होता हो।
  • यदि आप किसी तीर्थ से पत्थर लाकर शिवलिंग बनाकर पूजा करते हैं तो उसमें चढ़ाया गया प्रसाद आवश्य ग्रहण करें।
  • पारद शिवलिंग में चढ़ाया हुआ प्रसाद सभी को ग्रहण करना चाहिए।
  • शिवलिंग के साथ भगवान शालिग्राम का पूजन करने से वह प्रसाद खाने योग्य हो जाता है चाहे शिवलिंग किसी भी पदार्थ का बना हुआ क्यों न हों।
  • किसी संत द्वारा स्थापित किया गया शिवलिंग में चढ़ा हुआ प्रसाद भी खाने योग्य हो जाता है।
  • द्वादश ज्योतिर्लिंग में चढ़ाया गया प्रसाद सदा ग्रहणीय है।
इसे भी पढ़े :शिवजी को क्यों पसंद हैं बेलपत्र भांग धतुरा ?
शिवलिंग में चढ़ा हुआ प्रसाद का कभी अपमान नहीं करना चाहिए जिस प्रसाद को आप नहीं खा सकते उस प्रसाद को आप इधर-उधर न फेके बल्कि किसी नदि या तालाब में ले जाकर विसर्जित कर दे।
Tag-prasad shivling,shivling me chadha prasad kaye ya nahi,shivling ka bhoog prasad,शिवलिंग में चढ़ा प्रसाद

No comments:

Post a comment

इस लेख से सम्बंधित अपने विचार कमेंट के माध्यम से पूछ सकते हैं