durga k 32 nam ka arth | माँ दुर्गा के ३२ नाम से दूर होते हैं सभी कष्ट

ma Durga k 32 nam ka arth | माँ दुर्गा के ३२ नाम से दूर होते हैं सभी कष्ट 

माँ durga k 32 nam के फायदे जानकर आप चौक जायेंगे  दुर्गा के ३२ नाम का असर बहुत ही जल्दी होता है बस आपको एक छोटा सा काम करना है  durga k 32 namawali को शुद्ध उच्चारण फिर देखे क्या होता है 
जब भी कोई संकट आता है  हम सबसे पहले अपने इष्ट देव (भगवान) को याद करते है अपनी शक्ति अनुसार उनकी पूजा करते है हमारा यही यकीन ही तो है जो हमे दूसरे धर्मों से अलग बनाती है।

हमारा देश किस संकट में है इस बात से कोई अनजान नही है ऐसी स्थिति माँ दुर्गा के 32 नाम के नित्य पाठ से हमे इस वायरस से छुटकारा मिल सकता है अगर मा चाहे तो हमे हे संकट से मुक्त कर सकती है।

durga k 32 nam ka arth | माँ दुर्गा के ३२ नाम से दूर होते हैं सभी कष्ट
Durga k 32 nam ki jankari | दुर्गा के ३२ नाम की जानकारी 

हम यहाँ पर दुर्गा के 32 नाम के पाठ विधि और उसका लाभ के विषय मे चर्चा कर रहे है।
इंसान को दुख में घबराना नही चाहिये बल्कि उसका डटकर सामना करना चाहिए  हमारा धर्म खुद कहता है सुख और दुख तो दोनों सगे भाई है।

सुख  दुख तो चलते रहते हैं कई बार हमारे सम्मुख इतने असाध्य कष्ट आ जाते हैं जिनसे बचने का हमारे पास कोई उपाय नहीं होता, हम पूर्णत: असहाय हो जाते हैं लेकिन हम भारतीय लोग काफी भाग्यशाली हैं।

 हमारे पूर्वज  मुनियो ने हमेशा अपने ज्ञान व अनुभव को बचाकर के रखा जिसके कारण हमारी कई पीढ़ियाँ  बदलने के बाद भी हम उनके अनुभव भरे ज्ञान से लाभ ले रहे हैं।

हमारे पूर्वजों के ज्ञान की वजह से ही हमारे पास मंत्र रूपी हर समस्या को जड़ से मिटानेवाली शक्तिया हैं उन शक्तियों का चमत्कार हम बहुत बार देख चुके हैं।  “श्री दुर्गा बत्तीस नामवली” के मंत्र शक्ति के चमत्कार को जानकर आपके होश उड़ जाएंगे।

माँ दुर्गा ने देवताओ को खुद दिया यह मंत्र

देव और असुर में लड़ाई होना आम बात है अक्सर देवता दानवों से हार जाते थे एक बार जब देवता असुरो से हारे तो इस धरती में दानवो का साम्राज्य हो गया असुरों ने सबको परेशान करना शुरू किया।

तब सभी देवताओ ने माँ जगदम्बा की स्तुति अराधना किया मां दुर्गा ने अपनी शक्तियो के साथ मिलकर सभी दानवो को मार दिया देवता बहुत खुश हुये ।

उन्होंने माँ दुर्गा से हाथ जोड़कर प्राथना किया और कहा है माता आप भी हमे वो शक्ति दो जिसको जपने से जिसका पाठ करने से हमारे सभी दुख कष्ट दूर हो जाये।

तथा जिसे मूर्ख व अज्ञानी व्यक्ति भी लाभ प्राप्त कर सके देवताओ ने फिर हाथ जोड़कर विनती की माता अगर वो मंत्र गोपनीय भी है तो भी आप हमें बताना।

तब माता रानी ने अपने 32 नामों की बात कही और देवताओ की इसकी महिमा का वर्णन करते हुए कहा जो भी इस 32 नाम का जप नित्य करता है उसके सभी दुख दर्द,रोग,पीड़ा आदि सभी कष्टो से छुटकारा पा लेता है

आप ये पोस्ट भी पढ़ सकते हैं ....

जाने नवरात्र के विषेश नियम 
नवरात्र में किस वाहन में आती है माँ? 
नवरात्र में 9 कन्या का पूजन कैसे करे ?

durga k 32 nam in sanskrit | श्री दुर्गा बत्तीस नामवली


दुर्गा दुर्गार्ति शमनी दुर्गापद्विनिवारिणी।
दुर्गामच्छेदिनी दुर्गसाधिनी दुर्गनाशिनी

दुर्गम ज्ञानदा दुर्गदैत्यलोकदवानला
दुर्गमा दुर्गमालोका दुर्गमात्मस्वरूपिणी

दुर्गमार्गप्रदा दुर्गमविद्या दुर्गमाश्रिता
दुर्गमज्ञानसंस्थाना दुर्गमध्यानभासिनी

दुर्गमोहा दुर्गमगा दुर्गमार्थस्वरूपिणी
दुर्गमासुरसंहन्त्री दुर्गमायुधधारिणी

दुर्गमाङ्गी दुर्गमाता दुर्गम्या दुर्गमेश्वरी
दुर्गभीमा दुर्गभामा दुर्लभा दुर्गधारिणी

नामावली ममायास्तु दुर्गया मम मानसः
पठेत् सर्व भयान्मुक्तो भविष्यति न संशयः

पठेत् सर्व भयान्मुक्तो भविष्यति न संशयः।

ऑडियो  को सुनकर आप माँ दुर्गा के ३२ नाम का शुद्ध उच्चारण कर सकते हैं 


ma durga k 32 nam ka arth | मां दुर्गा के 32 नाम का अर्थ 



  1. ॐ दुर्गा
  2. दुर्गतिशमनी,
  3.  दुर्गाद्विनिवारिणी,
  4.  दुर्ग मच्छेदनी,
  5.  दुर्गसाधिनी,
  6.  दुर्गनाशिनी,
  7.  दुर्गतोद्धारिणी,
  8.  दुर्गनिहन्त्री, 
  9. दुर्गमापहा,
  10.  दुर्गमज्ञानदा,
  11.  दुर्गदैत्यलोकदवानला,
  12.  दुर्गमा, 
  13. दुर्गमालोका,
  14.  दुर्गमात्मस्वरुपिणी,
  15.  दुर्गमार्गप्रदा,
  16.  दुर्गम विद्या,
  17.  दुर्गमाश्रिता,
  18.  दुर्गमज्ञान संस्थाना,
  19.  दुर्गमध्यान भासिनी,
  20.  दुर्गमोहा, 
  21. दुर्गमगा,
  22.  दुर्गमार्थस्वरुपिणी,
  23.  दुर्गमासुर संहंत्रि,
  24.  दुर्गमायुध धारिणी,
  25.  दुर्गमांगी, 
  26. दुर्गमता,
  27.  दुर्गम्या,
  28.  दुर्गमेश्वरी,
  29.  दुर्गभीमा
  30. दुर्गभामा
  31.  दुर्लभा
  32.  दुर्गोद्धारिणी )

श्री दुर्गा बत्तीस नामवली के लाभ इस प्रकार है


यह मंत्र अपने आप मे सिद्ध है बस आपको थोड़ी सी मेहनत करनी पड़ेगी इसका शुद्ध उच्चारण अगर आप इन 32 नामों का सही से उच्चारण नही करेंगे तो लाभ नही होगा आप चाहे जितना भी इसका पाठ जप करे।
इसको जपने के लिए कोई विशेष नियम की आवश्यकता नही है आप कभी भी कर सकते है जैसे-


  • कोई अगर दुश्मन के बीच फंस गया हो
  • भीषण अग्निके मध्य हो
  •  रास्ता भट्क गया हो
  • बहुत सारा कर्ज हो कर्ज से न निकल पा रहा हो
  •  गम्भीर रोग से त्रस्त हो बीमार का पता न चल रहा हो
  • विष भय हो,सर्प भय हो,चोर का डर हो
  •  धन-व्यापार हानि हो रही हो,
  • किसी व्यसन (नशा)से ग्रस्त हो,
  •  बेगुनाह हो
  • वेवजह चिंता करता हो,
  • परिवार कलह हो

आपको इन सब परेशानी की बहुत जल्दी छुटकारा मिल जायेगा मैं फिर बोल रहा हु आपको इसका शुद्ध-शुद्ध उच्चारण करना होगा
आपकी सुविधा के लिए हम ने दुर्गा के 32 नामावली का वीडियो अपलोड किया हुआ है जिसको देखकर आप आसानी से सिख सकते हो।

TAG-Durga k 32 nam,maa durga k 32 nam ka arth,32 namawali,माँ दुर्गा के ३२ नाम,
durga k 32 nam ka arth | माँ दुर्गा के ३२ नाम से दूर होते हैं सभी कष्ट durga k 32 nam ka arth | माँ दुर्गा के ३२ नाम से दूर होते हैं सभी कष्ट Reviewed by Ourbhakti on April 05, 2020 Rating: 5

No comments:

इस लेख से सम्बंधित अपने विचार कमेंट के माध्यम से पूछ सकते हैं

Powered by Blogger.