nam rashi ka chamatkar | नाम राशी का चमत्कार

nam rashi ka chamatkar | नाम राशी का चमत्कार 


क्या आप नाम राशी के चमत्कार (nam rashi ka chamatkar) को जानते है ? नाम राशी से व्यावहारिक कार्य में आने वाली हर समस्या का समाधान छुपा हुआ हैं नाम के राशी से सांसारिक समस्यायों हल बहुत जल्दी होता हैं।

आइये समझते है क्या है नाम राशी का महत्व और क्या है जन्म कुंडली के राशी का महत्व?
nam rashi ka chamatkar | नाम राशी का चमत्कार
difference between birth sign and name sign

जब किसी बच्चे का जन्म होता है और 11 वे दिन में पंडित जी आकर नाम करण करते है उसको जन्म राशी कहते है , जब माता पिता अपने आप  बिना ज्योतिषीय सलाह के नाम  रखते है और कहते है हम अपने बच्चे को इसी नाम से बुलायेंगे तो उसको नाम राशी कहते हैं

जो लोग वैदिक ज्योतिष शास्त्र पर विश्वास  करते हैं उनके सामने यह समस्या आ जाती हैं वे कौन सी राशी को देखे "नाम राशी या जन्म राशी " घबराइये मत वैदिक ज्योतिष में इसका भी  हल दिया हुवा हैं



आपने यदि नाम राशि  के महत्व को समझ लिया तो आप बड़े से बड़े समस्याओं का भी समाधान कर सकते हैं बहुत सारे लोगों को ज्योतिष के विषय में कम जानकारी होती है  जो लोग ज्योतिष को समझते हैं उनके लिए तो यह आम बात हो सकती है।


नाम राशि के महत्व को जान लिया तो इतना जरूर जान सकते हैं मुझे व्यापार में लाभ होगा या घाटा। किसके साथ में व्यापार करू कहां करूं किस शहर में जाकर मैं अपना काम करूं।

जन्मकुंडली की बातें तो  सुनते रहते हैं पढ़ते रहते हैं आज का विषय नाम राशि के ऊपर है जिसका जन्म कुंडली
से कोई लेना देना नहीं है नाम राशि मतलब आपको लोग किस नाम से बुलाते  हैं ।

बहुत बार ऐसा होता है आपके जन्म कुंडली में सभी ग्रह ठीक हैं न ही अंगारक योग है न ही कोई शनि की साढ़ेसाती या ढैया चल रही है किसी बड़े ज्योतिषी से कुंडली दिखाओ तो यही कहता है आपकी जन्मकुंडली में सब कुछ ठीक है ।

मगर सच तो कुछ और ही होता है जो सिर्फ आपको पता रहता है आपके जीवन में कुछ ठीक नहीं है व्यापार में हानि हो रहा है घर में कलेश चलता रहता है।

कई बार इसका मुख्य कारण होता है आपके  नाम राशि के अनुसार ग्रह की स्थिति बिगड़ जाना होता हैं

 कौन से ग्रह की दशा चल रही है कहीं आपके नाम राशि के अनुसार शनि ग्रह के ढईया तो नहीं चल रही है !

कोई मारक ग्रह की दशा अंतर्दशा तो नहीं चल रही है

आपका सब कुछ ठीक न होना आपके नाम राशि के ऊपर चल रही  खराब ग्रह  की स्थिति को दर्शाता है।

Nam rashi se kya dekhe | नाम राशि से क्या-क्या देखा जाता है


देशे ग्रामे गृहे युद्धे सेवायां व्यवहारके
नाम राशि प्रधानत्वं जन्म  नाम राशि न चिन्तयत्।।

अर्थ - देश के लिए, अपने गांव के लिए,  युद्ध के लिए, सेवा और व्यवहार के लिए व्यक्ति को हमेशा अपनी नाम राशि का ही विचार करना चाहिये ।

अगर दो देशों की लड़ाई चल रही हो तो केवल उन दोनों देशों के नाम राशी के आधार पर हम को निर्णय  करना है कि कौन देश  किस पर भारी पड़ेगा।

दूसरा है गांव में यदि आप सोच रहे हैं कि मैं किस गांव में या शहर में जाकर रहूं ताकि मेरा भविष्य उज्जवल हो तो इसमें भी आपको अपनी नाम राशि और उस गांव के नाम राशी से ही विचार करना चाहिये।

 तीसरा है घर मान लीजिए आपके घर में सब कुछ ठीक है लेकिन फिर भी आप हमेशा परेशानी में रहते हैं हो सकता है आपके जन्म कुंडली में सभी ठीक हो लेकिन आपके नाम राशि के ग्रह की स्थिति ठीक न बैठता हो!

अंत में युद्ध अगर आपका किसी  के साथ लड़ाई झगड़ा चल रहा हो आप विजई होंगे या नहीं इसमें भी आपके नाम राशि को देखा जाएगा हम ने ऊपर जितनी भी बातें बताई है उसमें सिर्फ और सिर्फ नाम राशि का विचार करना चाहिए जन्म कुंडली देखने का कोई मतलब नहीं बनता।।

जन्म कुंडली के नाम राशी का विचार कहा होता है 


विद्यारम्भे विवाहे च सर्व संस्कार कर्मसु 
जन्म राशी प्रधान त्वं नाम राशी न चिन्तयत्


अब प्रश्न यह उठता है जन्मकुंडली का विचार का विचार कहां करें?

 हमारे हिन्दू धर्मं में १६ संस्कार कहे गये है  जन्म कुंडली के नाम राशि का विचार इन्ही १६ संस्कार को करने के लिए होता है । आप यहाँ से हिन्दू धर्मं के सोलह संस्कार के विषय में जान सकते हैं।

nam rashi ka pata kyse kare | नाम राशी का पता कैसे करे 

nam rashi ka pata करना बहुत ही सरल हैं आपका जो भी नाम हो  बस आपको अपने नाम का पहला अक्षर देख ना है और निचे दिये गये तालिका में मिलाना हैं आप के नाम का पहला अक्षर जिस भी क्रम में मेल खाता हो वो ही आपकी नामराशी  हैं।
nam rashi ka pata kyse kare | नाम राशी का पता कैसे करे
nam rashi list 

अब तो आप समझ गये होंगे नाम राशी और जन्म राशी के बीच का अंतर चलिये अब बात करते है नाम राशी के चमत्कार(nam rashi ka chamatkar) की ।

आप किसी के साथ मिलकर व्यापार करना चाहते हैं और मन में यह प्रश्न उठ रहा है की मेरा उस व्यक्ति के साथ व्यापार करना ठीक होगा या नहीं

ऐसी परिस्थिति में आपको अपनी नाम राशि और अपने पार्टनर की नाम राशि को मैच कराना होगा।

आपको अपनी नाम राशि से 11वें नंबर की राशि को चुनना होगा जैसे आपका नाम लालू है आपको लालू नाम से दुनिया जानती है

लालू का नाम राशि होता है मेष आपको अपनी राशि से 11 वि राशि चुनना होगा मेष राशि का 11वीं राशि है कुंभ

 यानी आप कुंभ राशि वाले के साथ व्यापार करेंगे तो आपको व्यापार में बहुत फायदा होगा जिसकी  कल्पना भी नहीं कर सकते

अगर आपने कोई दुकान खोल लिया उस दुकान का नाम यदि आपने अपनी राशि से 11वीं राशि या 9वी राशि से संबंधित रख लिया तो यह मानकर चलना चाहिए कि वह दुकान आपको जरूर फायदा पहुंचाएगा।

ठीक इसी प्रकार से यदि आप शिक्षा के क्षेत्र में वृद्धि करना चाहते हैं तो आप अपनी राशि से पंचम राशि से संबंधित क्षेत्र में जाकर पढ़ाई करेंगे तो निश्चित ही आपको लाभ मिलेगा।

प्रिय मित्रो हम आशा करते है आप को यह लेख पसंद आया होगा आपको इस  लेख से सम्बंधित और कोई जानकारी या सुझाव चाहिए तो comment जरुर करे। आपको यदि अपने समस्यायों का ज्योतिषीय समाधान चाहिए या हमसे कोई सलाह लेना चाहते हैं तो हमसे संपर्क कर सकते हैं । धन्यबाद ....
TAG-nam rashi ka chamatkar,nam rashi ya janma rashi,nam rashi ka mahatwa


nam rashi ka chamatkar | नाम राशी का चमत्कार nam rashi ka chamatkar | नाम राशी का चमत्कार Reviewed by Ourbhakti on August 28, 2019 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.