"दैनिक राशिफल" सच में सही होता हैं ?राशि फल का विचार कैसे किया जाता है?

"दैनिक राशिफल" सच में सही होता हैं

"दैनिक राशिफल" सच में सही होता हैं ?राशि फल का विचार कैसे किया जाता है?
दैनिक राशीफल केसे पता करते हैं ज्योतिषी ?क्या वह राशि फल सच में सही होता हैं ? जानिए दैनिक राशिफल का पूरा सच।

दैनिक राशिफल कैसे बनाते हैं 

राशिफल इसका मतलब यह हुवा आपकी राशी और उसका फल हर कोई चाहता हैं की उसका दिन बहुत अच्छा जाये इसलिए दैनिक राशिफल का सहारा लिया जाता हैं।  ताकि हमारा किया हुआ हर काम सफल हो सके हम पहले इस बात पर विचार करें कि यह  राशिफल बनता कैसे है? दैनिक राशिफल बनाने में सबसे बड़ी भूमिका चंद्रमा की होती है चंद्रमा को देखकर ही उस दिन का राशिफल तय होता है क्योंकि चंद्रमा सबसे तीव्र गति वाला ग्रह है चंद्रमा को एक राशि पार करने में सवा 2 दिन लगता है 27 नक्षत्र होते हैं इन 27 नक्षत्रों को चंद्रमा बहुत तीव्र गति से पार करता है चंद्रमा को एक नक्षत्र पर करने के लिए लगभग 1 दिन का समय लगता है। अब इसमें इस बात का विचार किया जाता है कि चंद्रमा वर्तमान गोचर में कौन से नक्षत्र पर भ्रमण कर रहे हैं और आपके जन्म के समय किस नक्षत्र पर भ्रमण कर रहे थे इसका ही विचार करके दैनिक राशिफल निकाला जाता है यदि इसको सूक्ष्म से विचार करना हो तो महादशा अंतर्दशा सूक्ष्म दासा प्राण दशा आदि का विचार भी करना चाहिए तभी आप अपना राशिफल सही से जान पाएंगेये भी पड़े  पतिपत्नी में लड़ाई कारन और निवारण 
दैनिक राशिफल सच में सही होता हैं राशि फल का विचार कैसे किया जाता है

                      जो राशिफल टीवी पर रोज देखते हैं

आमतौर पर हम अपनी सुविधा के लिए रोज सुबह टीवी पर ही अपना राशिफल देखते हैं कई अखबार का भी इस्तेमाल करते हैं बहुत सारे लोग अपने मोबाइल में भी  राशिफल देखते हैं ।क्या वो टीवी या कही और देखा हुवा राशीफल सभी के लिए एकसमान होता हैं ?दिखाये  उस राशिफल का यदि विचार किया जाए तो वह राशिफल आपके नाम राशि से हो सकता है जन्म के राशि  से नहीं हो सकता ! इसमें प्रश्न उठना स्वाभाविक है ऐसा क्यों? मान लीजिए किसी व्यक्ति का मेष राशि है मेष राशि वाले सिर्फ आप ही होंगे! मेष राशि लाखों-करोड़ों लोगों का हो सकता  हैं कोई गरीब हो सकता है कोई अमीर हो सकता है कोई सामान्य वर्ग का हो सकता है अब इसमें जो भविष्यवाणियां बताई जाती है क्या वह सभी के लिए सही होती है? नहीं हो सकती क्योंकि जन्म कुंडली में ग्रहों की भिन्न-भिन्न स्थितियां होती हैं सब का विचार  बहुत जरूरी है आपके ऊपर किस ग्रह की महादशा चल रही है हो सकता है आपको साढ़ेसाती चल रही हो आपको राहु की महादशा चल रही हो हो सकता है ऐसी स्थिति आपकी जन्मकुंडली में चल रही हो कि गोचर से कई ग्रह अष्टम स्थान में विचरण कर रहे हो ?वृहस्पति का भी बड़ा योगदान रहता हैं  क्योंकि वृहस्पति जब 1 वर्ष के लिए अपना गोचर में राशि परिवर्तन करते हैं तो उनका बहुत ज्यादा प्रभाव हमारे जीवन पर पड़ता है शनी प्रभावी होते हैं राहु और केतु भी प्रभावी होते हैं और क्रमशः उसी क्रम में सूर्य बुध और शुक्र भी प्रभावी होते सूर्य बुध शुक्र मंगल प्रभावी होते हैं तो यहां पर केवल आप जो राशिफल सुनते हैं और पढ़ते हैं वह केवल और केवल आपके नाम राशि के लिए  होता हैं सकता है।   ये भी पड़े रत्न करते है हर समस्या का समाधान 
ये पंडितजी की  मर्जी है कि वह दावा करें कि मैं जो बता रहा हूं सत्य ही हैं या  99% सही है  50% सही है हां कुछ हद तक अंदाजा लगाया जा सकता है।  प्रत्येक व्यक्ति अपने जीवन काल के हर दिन सुबह से  शाम तक की थोड़ा अच्छा होता है और थोड़ा बुरा भी होता है इसी को आधार बनाकर दैनिक राशिफल में  थोड़ा बुरा बोला जाता है,थोडा अच्छा बोला जाता हैं । क्योंकि यदि दावा करके  बता दिया जाए और आपके साथ बुरा हो जाए तो आपको अच्छा नहीं लगेगा बुरा ही बता दिया जाए तो भी आपको अच्छा नहीं लगेगा

Post a Comment

0 Comments