सावधान कालसर्प दोष आपको बर्वाद कर देगा |kalsarp dosh - Our bhakti- ज्योतिष,राशिफल,व्रतकथा,हिन्दु धर्म,

Latest

Our bhakti- ज्योतिष,राशिफल,व्रतकथा,हिन्दु धर्म,

ourbhakti.com - पर आपका स्वागत हैं यहाँ से आप हिन्दू धर्मं से सम्बंधित जानकारी जैसे ज्योतिष विज्ञान ,पूजा पाठ ,ग्रह शांति , हवन ,व्रत कथा ,वास्तु ,राशिफल, साथ ही सनातन धर्मं की रोचक जानकारी पा सकते हैं ।

सावधान कालसर्प दोष आपको बर्वाद कर देगा |kalsarp dosh

kalsarp dosh ya yog | कालसर्प दोष से क्यों डरते हो

kalsarp dosh ki jankari

KAALSARP DOSH के नाम पर सबसे ज्यादा डराया जाता हैं  KAL SARP DOSH को लेकर क्यों इतना डरते हैं कहा से आया कालसर्प दोष ? पाखंडी पंडित ज्यादा लोगो को डराते हैं वे  यहाँ तक कह देते हैं


 kalsarp dosh niwaran पूजा करा लो नहीं तो आपका बहुत बुरा होगा घर में कभी शांति नहीं होगी। या तो अन्य कोई कालसर्प योग के उपाय के नाम पर लोगों के जेब खाली कराते हैं।

सामान्य आदमी तो डर भी जाता हे क्यों की इस बात को इतना मिला के सटीकता से कहेते हे की सुनने वाला तो घबरा ही जाता हे फिर कुछ नाम के ज्योतिषी इसका फायदा उठाने से पीछे नहीं हटते आज हम इस लेख के माध्यम से kalsarpa dosh के बिषय में पूरी जानकारी देंगे।

कालसर्प योग को जितना बड़ा बना दिया गया है वास्तव में वह उतना बड़ा नहीं हैं सर्प योग के विषय में बहुत ज्यादा बढ़ा चढ़ाकर बातें कही जाती है। कालसर्प योग मतलब राहु और केतु के बीच में सभी ग्रहों का आ जाना।

 यदि राहु और केतु से एक भी ग्रह बाहर हो तो कालसर्प योग भंग हो जाता है जबकि कुछ नाम भर के ज्योतिषी और पंडित लोग तो यहां तक कह देते हैं की कुंडली में आंशिक कालसर्प दोष है अतः इसकी शांति कराइए।

कुंडली मे यह योग न होते हुए भी आंशिक कालसर्प योग का नाम दे दिया जाता हैं।ऐसा नही है कि यह योग नही होता! यह योग होता है बस हमे इसको सही से जानने की और समझने की जरूरत है।

हम आप को एक बात स्पस्ट बता दे  कालसर्प एक योग है न कि कोई दोष अगर हम प्राचीन ज्योतिष की पुस्तकों की बात कहें चाहे वह कोई भी पुस्तक हो किसी पुस्तक में यह बात नहीं लिखी है कि कालसर्प योग नाम का कोई योग होता है, यह योग तो हाल ही में प्रचलन में आया है।
क्या होता हे मांगलिक योग ?

 what is kalsarp dosh | काल सर्प दोष किसे कहते हैं 


सामान्यतः राहु और केतु के बीच में सभी ग्रह आ जाने से कालसर्प योग नाम होता है इसका मतलब यह बिल्कुल नहीं है के जीवन में जो भी घटनाएं घट रही है जो भी मुश्किलें और दिक्कतें आ रही हैं उन सब के पीछे का कारण

 kalsarp dosh है! इसके अतिरिक्त कुंडली में और भी ऐसे बहुत सारे योग  होते हैं जिसके चलते व्यक्ति को समस्या का सामना करना पड़ता है हमें कालसर्प योग के साथ साथ और भी ग्रहों को देखना होता है तभी जाकर

यह पता लगता है समस्या किस वजह से आ रही है जिसको लोग kaal sarp dosh के नाम से जानते हैं वैसा कुछ होता नहीं है। वह तो सिर्फ एक राहु और केतु से  बनने वाला योग है, ज्योतिष में हजारों प्रकार के योग

होते हैं कोई अच्छे होते हैं और कोई योग  बुरे होते हैं जीवन में राहु और केतु समस्या दे सकते हैं इंकार नहीं किया जा सकता  क्योंकि राहु और केतु को शास्त्र में पौराणिक मान्यता भी मिली है और ज्योतिष की मान्यता भी मिली है।

यदि कुंडली में राहू और केतु की वजह से एसी समस्या आ रही है तो उसकी शांति किस प्रकार की जाये अब इस विषय पर बात करते हैं ।

क्या काल सर्प योग हमेशा ही बुरा करता है 

does kaal sarpyog is always bad?

कालसर्प योग सभी को बुरा नहीं करता इसके के अच्छे परिणाम भी मिलते हैं यह सभी को बुरा नहीं करता ऐसे बहुत सारे उदाहरण हैं जिनकी कुंडली में इस प्रकार के योग देखे गए हैं जैसे सचिन तेंदुलकर लता

kaal sarp dosh niwaran puja | कालसर्प दोष निवारण पूजा

मंगेशकर, धीरूभाई अंबानी इन सब की कुंडलियों में भी इस प्रकार के योग हैं जो कि बहुत अच्छे साबित हुए हैं दुनिया में इनका नाम है इन को कौन नहीं जानता इसलिए इस प्रकार के योग अच्छे भी होते हैं ।

kaha se aaya kaal sarp dosh | कहां से आया कालसर्प योग ?

इस बात को लेकर अनेक मत है की kaalsarp yog kaha se aaya कहा से शुरू हुवा फिर भी एसी मान्यता है यह kaalsarp yog दक्षिण भारत से शुरू हुआ है एसा कहा जाता  है पर ये सच है या झूट कोई नहीं जनता !

                       कालसर्प योग कितने प्रकार के होते हैं ? types of kaalsarp dosha

काल सर्प योग १२ प्रकार के होते हैं जो इस प्रकार हैं -

  1. अनंत कालसर्प दोष
  2. कुलीक कालसर्प दोष
  3. वासुकी कालसर्प दोष
  4. शंखफल कालसर्प दोष
  5. पदम् कालसर्प दोष
  6. महापदम कालसर्प दोष
  7. तक्षक कालसर्प दोष
  8. कर्कोटक कालसर्प दोष
  9. शंखनाद कालसर्प दोष
  10. घटक कालसर्प दोष
  11. विषधर कालसर्प दोष
  12. शेषनाग कालसर्प दोषऔर जानिए राहुकाल में कौन कौन से काम नही करना चाहिये 

kaal sarp dosh niwaran puja | कालसर्प दोष निवारण पूजा

काल सर्प दोष निवारण की शांति के लिए कई उपाए बताये गये हैं जो इस प्रकार हैं 

नाग पंचमी के दिन कालसर्प दोष की पूजा करें 
भगवान् शंकर की पूजा करे ।
हनुमान चालीसा का रोज पाठ करे ।
किसी नदी या सरोवर में जाकर भी काल सर्प योग की शांति कि जाती हैं ।
पंचधातु का नाग नागिन बनाकर उनकी पूजा करे और उसका दान करे 


अब तो आप को पता चल ही गया होगा kalsarp dosh के विषय में इससे से बिलकुल डरने की जरुरत नहीं है बस थोडा सा समझ ने की जरुरत हे।यदि हम जान के समझ के कोई काम करे तो जीवन की राह बहुत आसान हो जायेगी।

tag-kalsarp dosh, kaal sarp dosh types,kaal sarp dosh remedies,कालसर्प दोष,kal sarp yog ki puri jankari hindi me

2 टिप्‍पणियां:

इस लेख से सम्बंधित अपने विचार कमेंट के माध्यम से पूछ सकते हैं